IT/ITeS/L3/U3/S2-Bio-Metric Data

   

Q1.      Demographic Data क्या है?

Ans.    Demographic Data किसी society या area में रहने वाले लोगों  की information होती है। जिसमें  से हम तथ्यों के आधार पर data को search करते है जैसे कि - Age , gender , income, education & employment etc.

Q2.      Biometric क्या है? Biometric Data का use किस लिए  होता  है?

Ans.    Biometric किसी person को physically characteristic से identify करने का तरीका है जैसे कि  finger print , eyes scan और face recognition etc. biometric data की मदद से हम किसी भी person को uniquely identify और verify कर सकते हैं 
      
            Example : अगर आप को कोई भी SIM card लेना है या Bank account खोलना है तो आपके fingerprint को aadhar number से verify किया जाता है जिस से आपकी बाकी detail भी verify हो जाती हैं

Q3.      Biometric Technology से आपका क्या अभिप्राय है?
Ans.    Biometric Technology में वो software / hardware device आते हैं  जिनकी मदद से हम physical characteristic को verify / identify करते हैं  जैसे कि - fingerprint machine, eyes scanner etc.  


     


Q4.      Biometric Data की type  को explain करो


Ans.    Biometric data mainly 2 type का होता है-


            1. Physiological                      2. Behavioral Data


            Physiological Biometric Data


            1. Fingerprint : इसमें हम उंगलियों और अंगूठो के निशान से person को identify करते हैं


            2. Palm : इसमें हम left hand के अंगूठे को छोड़ कर बाकी पूरे  हाथ को scan करके person                    को  identify करते है


3. Face : हर person का face अलग-2 दिखाई देता है। आँखों के बीच का distance , नाक की बनावट हर इंसान की अलग होती है biometric system में हम पूरे  face को scan करके person को identify करते है

4. Eyes : face की तरह हर इंसान की eyes भी unique होती हैं  हर eyes के unique future होते हैं  जैसे कि - Retina , iris और blood vassal pattern. 

Behavioral Biometric Data.


            1. Signature: हर person का लिखने का तरीका और style अलग-2 होता है इसी लिय                                  signature   से भी person को identify कर सकते हैं

            2. Voice  : voice भी हर इंसान की अलग होती है voice के parameter से हम voice को                   identify कर सकते हैं
              voice के parameter: pitch , tone , cadence और frequency और voice. 


          3. way of walking :  हर person का चलने का तरीका भी अलग होता है
हम way of                       walking से भी person को identify कर सकते हैं

 

Q5.      Biometric Data की quality  को explain करो


Ans.     Biometric Data की quality से मतलब है कि  जिस physical characteristic को हम scan कर रहे हों  वो data             बिलकुल clear और error free होना चाहिए biometric data जितना clear और error free होगा तो उसको             identify करना उतना ही easy होगा

            Biometric system की accuracy और efficiency biometric data की quality  पर ही depend करती है

            जैसे कि अगर fingerprint के clear निशान-ridges, good contrast हों  तो हम कह सकते हैं  कि  ये fingerprint             अच्छी quality के हैं 


Q6.      Biometric Data में कोन-2 सी limitation आती हैं ?


Ans.    Biometric data recognition system में बहुत सारी limitations/problems आती है जिनमे से कुछ निम्नलिखित  है:- 


1.       बढ़ती उम्र के साथ face में बदलाव आ जाते हैं जिसे recognize करना मुश्किल  हो जाता है


2.      ज्यादा कम करने से या किसी और कारण से उंगलियों के निशान visible नहीं हो पाते 


3.      Medical problem या accidental injury से भी biometric data को recognize करना मुश्किल  हो जाता है


4.      light की variation से face को match करने में problem आती है


5.      अगर biometric system के software या hardware में कोई problem आ जाए तो पूरा biometric system fail हो जाता है


6.      कई bar scanning के time image blur रिकॉर्ड हो जाती है जिसे बाद में match करना मुश्किल  हो जाता है


7.      Biometric system online process है जिस कारण इसकी security का भी challenge बना रहता है

 

Q7.      Domestic or Global Data क्या होता है?


Ans.     Domestic Data :जब हम किसी organization के people  का biometric data जैसे कि  fingerprint, face image और signature etc.  scan करके उसी organization के server  पर store करते हैं  तो उसे domestic data कहते हैं 

           

            Global Data   : वो biometric data जिसे हम national लेवल पर या online कही भी verify कर         सकते हैं  उसे   ग्लोबल data कहते हैं 


             Example:        India में हर person के aadhar card बने हैं  और हर person को एक unique aadhar number मिला हैआगे कोई person किसी बैंक में अपना account खुलवाना चाहता है तो उस person का biometric data aadhar के biometric data से cross verify किया जाता है
 
            Note : 1. aadhar का biometric data india government के server पर  globally stored रहता है. जिसे कहीं  से भी  online verify किया जा सकता है इस लिए ये Global data है

                        2. aadhar के biometric data  के साथ match करके जो data बैंक ने अपने server पर store किया है वो बन      जाता है Local Data.  

 


Post a Comment

0 Comments